2/1/11

Aagosh


अपनी प्रतिक्रिया ज़रूर दे ... Do Please Give your comment

1 टिप्पणी:

  1. अब तो मीरा बनी नाचती है रूह ..
    इश्क की वो धुन लगा दी उसने !

    "आगोश" बहुत ही खूबसूरत रचना ..
    प्रेम की भावना से ओत-प्रोत ...
    बहुत-बहुत शुभकामनाएं भारत जी ..

    उत्तर देंहटाएं

स्वागत है

नेटवर्क ब्लॉग मित्र