8/7/11

tum main hum / तुम मैं हम

उन बातों का क्या किया जाये alone35
उन रातों को अब कैसे जिया जाये
उन दिनों "हम" थे
अब एक "मैं "
और एक और एक "तुम"
तुम आना कभी घर एक बार फिर
जी के देखेंगे जिंदगी "हम" एक बार फिर ...

भरत ७/७/२०११ २३:५३

                                                                            

                                                                              photograph from internet

un baaton ka kya kiya jaaye
un raton ko ab kaise jiya jaaye
un dino "ham" the
ab ek "main "
aur ek aur ek "tum"
tum aana kabhi ghar ek baar fir
ji ke dekhenge zindagi "ham" ek baar fir ...

bharat 7/7/2011 23:53

3 टिप्‍पणियां:

  1. " मैं"........ "तुम"..........और..........
    "हम"..............इन तीन शब्दों में कितनी गहराई है ....वाह~~!!~~~

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छा लिखा है...आजकल सारी परेशानी इस मैं की ही उपज है...

    उत्तर देंहटाएं
  3. तुम आना कभी घर एक बार फिर
    जी के देखेंगे जिंदगी "हम" एक बार फिर ...चंद पंक्तियों में बहुत कुछ है

    उत्तर देंहटाएं

स्वागत है

नेटवर्क ब्लॉग मित्र