5/8/12

आ मिला हाथ aa mila haath


आ मिला हाथ  
दोस्ती के नाम
बचा है
बस एक संडे
और हफ्ता कोई एक नाटक सा 

जाने कब दोस्ती ने साथ पतंग उड़ाना छोड़ा
कबूतरों के दड़बे ही उड़ गए
कंचे को मिली टेबल सजाने की सज़ा 
आइस-पाईस तो सच की ही बन गयी
नजर ही नहीं आते 
टीप किस को मरोगे

... अरे यार दिल खुश हो गया मिल के आज तुमसे !
(अभी दस मिनट भी नहीं बीते)
बड़ा कमीना हो गया है 
ऐसा था नहीं 
(खुद को नहीं देखा)
और साथ ...
दस साल साथ बड़े हुए
तब
दिवाली बीती नहीं के
होली की याद आना शुरू

...अरे यार अब मजा नहीं रहा होली दिवाली में !
अब 
एस एम एस से खेलो
होली
दिवाली
ईद की सेवईं
दोस्ती की मिठास

वो अब दोस्त नहीं रहा !
पैमाना... 
एक  एस एम एस भी नहीं करता

दोस्ती क्या बस अगस्त का पहला हफ्ता है
या फिर
जिंदगी है ये
जीना हो तो एक हफ्ते जियो

हम तो भाई सारी उमर जियेंगे…
अपनी अपनी जिंदगी है
अपना अपना राग
भरत ०१/०८/२०१०

Aa mila haanth
Dosti ke naam
Bacha hai 
Bas ek sunday
Aur hafta koi ek natak sa

Jaane kab dosti ne saath patang udana chhoda
Kabootaron ke dad’bey hi udd gaye
Kanche ko mil table sajane ki saza 
Aais-paais to sach ki hi ban gayi
Nazar hi nahin aate 
Teep kis ko maroge

... Are yaar dil khush ho gaya mil ke aaj tumse !
(abhi das minute bhi nahin beete)
Bada kameena ho gaya hai
Aisa tha nahi
(khud ko nahi dekha)
Aur saath…
Das saal saath bade hue
Tab
Diwali beeti nahin ke
Holi ki yaad aana shuru

...arre yaar ab maja nahin raha holi diwali men !
Ab 
Sms  se khelo
Holi
Diwali
Eid ki sevain
Dosti ki mithaas

...vo ab dost nahi raha
Paimana
Ek sms bhi nahin karta

Dosti kya bas august ka pahla hafta hai 
Ya fir
Zindagi hai ye
Jeena ho to ek hafte jiyo

Ham to bhaai saari umar jiyenge…
Apni apni zindagi hai
Apna apna raag
Bharat 01/08/2010
Happy Friendship Day
हैपी फ्रेंडशिप डे

(7 अगस्त 2011 नवभारत टाइम्स में प्रकाशित navbharattimes.indiatimes.com Published in Navbharat Times on 7 Aug 2011) 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

स्वागत है

नेटवर्क ब्लॉग मित्र