29/12/13

इबादत — भरत तिवारी

इबादत — मैं जा रहा हूँ मंदिर बनाने — भरत तिवारी । #BabriMasjid #ShauryaDiwas

मैं जा रहा हूँ मंदिर बनाने।
अब बहुत व्यस्त रहूँगा।

देश को तोड़ कर पत्थर इकट्ठे करने हैं,
कुछ बच्चे चाहिए होंगे,
पत्थरों को तर्शवाना होगा।
सबसे ज्यादा ज़रूरत इसे मजबूत बनाने की है.
इतना मजबूत -
कि ...
कोई तोड़ ना सके।
बुर्ज पर चाँद की रौशनी ना पड़े ये भी देखना है।

मजबूती कैसे लायी जाये - हल मिल गया है।
खून के रिश्ते,
और उनके रिश्तों के रिश्ते,
सब को बुलाना है,
जोड़ का शक्तिशाली मसाला बनाने के लिए।

मसाला बनाना कोई मजाक नहीं है,
एक-छः का मजबूत मसाला !
एक हिस्सा बचे लोगों का खून
और छः हिस्सा हड्डीयां।

बहुत काम करना है - इबादत करना अब आसान नहीं रहा ...

#BharatTiwari

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

स्वागत है

नेटवर्क ब्लॉग मित्र