आप और हम


 संपर्क
   भरत तिवारी
   बी-७१ "त्रिवेणी"
   शेख सराय - १
   नई दिल्ली - ११० ०१७
   bharat@tiwari.me 
    Contact
      Bharat Tiwari
      B-71 "Triveni"
      Shekh Sarai - I
      New Delhi - 110 017
      bharat@tiwari.me 


2 टिप्‍पणियां:

  1. mujhe lagta hai ki aap mahanubhauo ko hindi aur urdu mein antar karna chahiye.

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाषा ग्राह्य (समझ मे आने वाली) तथा प्रभावी(असरदार) होनी चाहिए अन्यथा जैसे अभी मैंने कोष्ठक मे लिखा वैसे ही बार बार समझाने के लिए लिखना पड़ेगा । कभी पाकिस्तानी टी वी या रेडियो के उदघोषक को ध्यान से सुनें जब उन्हे नफ़ासत या नज़ाकत से बात करनी होती है तो वो उर्दू के लव्ज़ इस्तेमाल करते हैं और जब किसी बात पर ज़ोर देना हो तो संस्कृतनिष्ठ खड़ी बोली के शब्दों का प्रयोग करते हैं । हिन्दी उर्दू को अलग करना ऐसा है जैसे बाईं आँख को दाईं आँख से अलग करना ।

    उत्तर देंहटाएं

स्वागत है

नेटवर्क ब्लॉग मित्र